उत्तराखंड विधानसभा में इंदिरा हृदयेश बनीं नेता प्रतिपक्ष

देहरादून। कांग्रेस की वरिष्ठ विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री इंदिरा हृदयेश उत्तराखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष होंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने यहां बताया कि उत्तराखंड में पार्टी मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की मौजूदगी में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हल्द्वानी से विधायक इंदिरा को नेता चुन लिया गया। उन्होंने बताया कि रानीखेत से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को हराकर विधायक बने करण माहरा को विधायक दल का उपनेता तथा हरिद्वार जिले के भगवानपुर से विधायक ममता राकेश को सदन में पार्टी का मुख्य सचेतक चुना गया है।नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद इंदिरा ने पार्टी हाईकमान का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि वह सदन में विपक्ष के नेता के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिये तैयार हैं। जागेश्वर विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल और चकराता विधायक प्रीतम सिंह तटस्थ नजर आए, जबकि अन्य नेताओं ने खुलकर अपनी बात रखी। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद नेता प्रतिपक्ष के नाम का एलान कर दिया गया। प्रदेश प्रभारी अंबिका सोनी ने इंदिरा हृदयेश के नाम की घोषणा की। उन्होंने करण माहरा को उपनेता प्रतिपक्ष और ममता राकेश को मुख्य सचेतक बनाने की जानकारी भी दी। नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने केंद्रीय नेतृत्व का आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से राज्य हित के मुद्दों को सदन में प्रभावी ढंग से उठाने की उनकी कोशिश रहेगी। दूसरी ओर, पूर्व सीएम हरीश रावत, पीसीसी चीफ किशोर उपाध्याय और प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी ने इंदिरा हृदयेश के नेता प्रतिपक्ष चुने जाने पर खुशी जाहिर की है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी आज बीजेपी में शामिल होंगे,बेटे को मिल सकता है टिकट

देहरादून, पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों की बढ़ी सक्रियता के बीच नेताओं का एक पार्टी से दूसरे पार्टी में जाने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. उत्तराखंड के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी बुधवार को बीजेपी में शामिल हो गए। अमित शाह की मौजूदगी में उन्होंने दिल्ली में बीजेपी की सदस्यता स्वीकार की। नारायण दत्त तिवारी के साथ उनके बेटे रोहित शेखर भी बीजेपी में शामिल हुए। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष यशपाल आर्य भी बीजेपी में शामिल हो गए थे. राज्य के पूर्व सीएम विजय बहुगुणा समेत 9 कांग्रेस एमएलए भी बीजेपी में शामिल हो गए थे. तिवारी अपने बेटे रोहित के लिए कुमाऊं रीजन से टिकट चाह रहे हैं, जिसके लिए बीजेपी तैयार हो गई है। तीन साल पहले दिल्ली हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद एनडी तिवारी ने शेखर को बेटा स्वीकारा था. हाईकोर्ट ने कहा था कि शेखर तिवारी का बायोलॉजिकल बेटा है. बता दें कि इसके लिए 2013 में शेखर ने एक पैटरनिटी सूट कोर्ट में दायर किया था. इसमें दावा किया गया था कि रोहित के बायोलॉजिकल पेरेंट्स नारायणदत्त और उज्ज्वला शर्मा हैं. शुरुआत में डीएनए टेस्ट से इनकार करने के बाद तिवारी इसके लिए तैयार हो गए थे. हालांकि, जब टेस्ट हुआ तो रिजल्ट में शेखर के पक्ष में आया था. एक हफ्ते के भीतर उत्तराखंड में बीजेपी में अपनी गतिविधियों में तेजी दिखाई है. यशपाल आर्य के बाद एनडी तिवारी भी बीजेपी में आ गए हैं. वहीं, उत्तराखंड में टिकट कटने से नाराज बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं.

More Articles...

  1. देहरादून परिवर्तन रैली में मोदी: देश को काले धन और काले मन ने बर्बाद किया
  2. उत्तराखंड में नए सत्र से प्राइवेट परीक्षाएं खत्म, जारी हुआ आदेश
  3. उत्‍तराखंड के चमोली और पिथौरागढ़ में बादल फटे, मरने वालों की संख्‍या 30 हुई
  4. उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा परिणाम में प्रशंसा और प्रियंका ने मारी बाजी
  5. हरीश रावत ने फिर लगाई विधायकों की बोली, एक और स्टिंग आया सामने
  6. उत्तराखंड संकट: कांग्रेस ने स्टिंग को ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ से जोड़ा,पूछा- क्यो नहीं हो रही कार्रवाई
  7. उत्तराखंड के जंगल में लगी आग से ग्लेशियर के पिघलने का खतरा
  8. उत्तराखंड केंद्र सरकार की अपील पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को तैयार
  9. शक्तिमान' की मौत पर बोले विधायक, जिम्मेदार हूं तो 'काट दो मेरी टांग'
  10. उत्तराखंड: हाईकोर्ट के फैसले को केंद्र ने दी चुनौती

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3