उत्तराखंड विधानसभा में इंदिरा हृदयेश बनीं नेता प्रतिपक्ष

देहरादून। कांग्रेस की वरिष्ठ विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री इंदिरा हृदयेश उत्तराखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष होंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने यहां बताया कि उत्तराखंड में पार्टी मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की मौजूदगी में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हल्द्वानी से विधायक इंदिरा को नेता चुन लिया गया। उन्होंने बताया कि रानीखेत से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को हराकर विधायक बने करण माहरा को विधायक दल का उपनेता तथा हरिद्वार जिले के भगवानपुर से विधायक ममता राकेश को सदन में पार्टी का मुख्य सचेतक चुना गया है।नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद इंदिरा ने पार्टी हाईकमान का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि वह सदन में विपक्ष के नेता के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिये तैयार हैं। जागेश्वर विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल और चकराता विधायक प्रीतम सिंह तटस्थ नजर आए, जबकि अन्य नेताओं ने खुलकर अपनी बात रखी। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद नेता प्रतिपक्ष के नाम का एलान कर दिया गया। प्रदेश प्रभारी अंबिका सोनी ने इंदिरा हृदयेश के नाम की घोषणा की। उन्होंने करण माहरा को उपनेता प्रतिपक्ष और ममता राकेश को मुख्य सचेतक बनाने की जानकारी भी दी। नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने केंद्रीय नेतृत्व का आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से राज्य हित के मुद्दों को सदन में प्रभावी ढंग से उठाने की उनकी कोशिश रहेगी। दूसरी ओर, पूर्व सीएम हरीश रावत, पीसीसी चीफ किशोर उपाध्याय और प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी ने इंदिरा हृदयेश के नेता प्रतिपक्ष चुने जाने पर खुशी जाहिर की है।

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3