गाय का वध करने वाले को भारत में रहने का अधिकार नहीं : हरीश रावत

हरिद्वार: गाय का वध करने वालों को भारत का सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज कहा कि ऐसे लोगों को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं है और उत्तराखंड में गाय का वध करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।
यहां गोपाष्टमी के अवसर पर आयोजित एक समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि किसी भी संप्रदाय का कोई भी व्यक्ति हो, अगर वह हमारी गौमाता का वध करता है तो वह भारत का सबसे बड़ा दुश्मन है और उसे भारत में रहने का अधिकार नहीं है।’ उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में जो गौमाता का वध करेगा, उसको कानून सख्त से सख्त दण्ड देगा और गौमाता की रक्षा करने के लिये हमें चाहे किसी भी सीमा तक जाना पड़े हम पीछे नहीं हटेंगें।
रावत ने कहा कि गौवध करने वालों के खिलाफ उत्तराखण्ड सरकार ने सबसे पहले प्रस्ताव पारित किया था। उन्होंने कहा कि उन पर संत महापुरूषों की बड़ी असीम कृपा हैं और उनके द्वारा दिये गये सभी प्रस्तावों पर वह मोहर लगा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि हमारी ऐसी पहली सरकार है जो गऊ पालन के लिये जमीन भी देती है और गऊ माता के चारे के लिये भी पूरा सहयोग करती है।’ श्री कृष्णायन देशी गोरक्षा एवं गोलोक धाम सेवा समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम के संस्थापक और परमाध्यक्ष महंत ईश्वरदास की प्रशंसा करते हुए रावत ने कहा कि जितनी बड़ी गऊ सेवा महंत ईश्वरदास कर रहे हैं वह अपनेआप में एक चमत्कार से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि 2000 गायों की सेवा करना ईश्वर सेवा के समान हैं और मैं उन्हें इस कार्य के लिये साधुवाद देता हूं।

बद्रीनाथ में हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, चीफ इंजीनियर की दर्दनाक मौत,7 घायल

देहरादून उत्तराखंड में बद्रीनाथ से तीर्थयात्रियों को हरिद्वार लेकर जा रहा हेलिकॉप्टर दुघर्टनाग्रस्त हो गया. आज सुबह करीब 7 बजकर 40 मिनट पर हुए इस हादसे में चीफ इंजीनियर की मौत हो गई. हेलिकॉप्टर के दोनों पायलट को सामान्य चोटें आई हैं जबकि अन्य पांच यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं.बताया जा रहा है कि हेलिकॉप्टर ने उड़ान भरने के दौरान अपना संतुलन खो दिया था. चीफ इंजीनियर विक्रम लांबा हेलिकॉप्टर से जान बचाने के लिए बाहर निकल रहे थे तब हेलिकॉप्टर के पंखे से उनके शरीर के कई टुकड़े हो गए और मौके पर ही उनकी मौत हो गई. तीर्थयात्री बद्रीनाथ से दर्शन करने के बाद लौट रहे थे. ये सभी श्रद्धालु गुजरात के बड़ौदा जिले के रहने वाले हैं. दुघर्टनाग्रस्त हेलिकॉप्टर क्रिशल कंपनी का है. फिलहाल, उत्तराखंड के प्रमुख सचिव एस. रामास्वामी ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं. इस मामले की जांच का दायित्व जोशीमठ के एसडीएम को सौंपा गया है. गढ़वाल कमिश्नर विनोद शर्मा भी इस घटना पर लगातार नजर रख रहे हैं. इस घटना पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने शोक जताते हुए ट्विटर पर लिखा, 'बद्रीनाथ में मुंबई की चॉपर कंपनी के इंजीनियर की मौत दुखद है. पायलट, कोपायलट और अन्य यात्री सुरक्षित हैं.'

More Articles...

  1. गंगोत्री नेशनल हाईवे पर गंगा के ऊपर बना पुल टूटा
  2. सच साबित हुआ सोशल मीडिया का जोक, रामदेव लाएंगे देसी मैगी
  3. शिमला के नारकंडा में बर्फबारी, एनएच 5 पर ट्रैफिक रूकी
  4. देहरादून में बेकाबू बदमाश, पुलिस चौकी के पास दिया इस बड़ी घटना को अंजाम
  5. पतंजलि फूड फैक्टरी से मिले हथियार, जांच में जुटी एसटीएफ
  6. खाई में बस गिरने से 12 की मौत, 39 घायल
  7. 29 अगस्त को मसूरी आएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वजह बेहद खास
  8. त्तराखंड संकट पर HC की टिप्‍पणी- ताकत किसी को भी भ्रष्‍ट कर सकती है, राष्‍ट्रपति भी हो सकते हैं गलत -
  9. उत्तराखंड विधानसभा में इंदिरा हृदयेश बनीं नेता प्रतिपक्ष
  10. प्रियंका के साथ छुट्टियां मनाने शिमला पहुंचीं सोनिया

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3