आईसीजे चुनाव में मजबूत भारतीय पक्ष से घबराया यूके, अब यूएन में अटकाएगा रोड़े

लंदनः इन दिनों भारत और ब्रिटेन के बीच राजनयिक संबंधों में तनातनी चल रही है । इसी के चलते इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में हो रहे चुनाव में भारतीय उम्मीदवार के बढ़ते समर्थन को रोकने के लिए ब्रिटेन चाल चलने की तैयारी में है। जानकारी के अनुसार भारतीय उम्मीदवार के बढ़ते समर्थन से घबराए ब्रिटेन द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ में बाधा खड़ी करने की आशंका व्यक्त की जा रही है। उल्लेखनीय है कि इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में हो रहे चुनाव में भारतीय उम्मीदवार दलवीर सिंह भंडारी के समर्थन में लगातार वृद्धि हो रही है। इसे देख यूके आईसीजे में अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए कुछ ऐसी योजना बना रहा है जो पहले कभी नहीं हुई। खबर है कि यूके भारतीय उम्मीदवार को रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में होने वाले अंतिम मतदान को रोकने के प्रयत्न कर रहा है। इसके लिए यूके ने ऐसे संकेत दिए हैं, कि वो यूएन में अपनी स्थायी सदस्यता का भी उपयोग कर सकता है। बता दें कि नीदरलैंड के हेग में स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत (ICJ) में जज के दूसरे कार्यकाल के लिए भारतीय जज दलवीर भंडारी की स्थिति मजबूत बताई जा रही है, लेकिन यह चुनाव फिलहाल रुक गया है। एक सीट पर हो रहे इस चुनाव के लिए भारत के दलवीर भंडारी और ब्रिटेन के क्रिस्टफर ग्रीनवुड के बीच सोमवार को भी चुनाव बेनतीजा रहा। भंडारी को चुने जाने के लिए भारत फिर से अभियान चलाएगा। भारत को रोकने के लिए यूके द्वारा यह गलत अफवाह भी फैलाई कि भारत और ब्रिटेन वार्ता कर रहे हैं और न्यायाधीश भंडारी अपना नाम वापस ले सकते हैं। संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने इन अफवाहों का खंडन करते कहा कि जब तक बहुमत का नतीजा आ नहीं जाता, तब तक हम यहां चुनाव में बने रहेंगे।

नेपाल: पूर्व प्रधानमंत्री पुष्पकमल के बेटे प्रकाश दहल का हार्ट अटैक से निधन

काठमांडू,: नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कुमार दहल प्रचंड के इकलौते बेटे प्रकाश का रविवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 36 वर्ष के थे। प्रकाश अपने पिता के राजनीतिक सचिव और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (माओवादी-सेंटर) के केंद्रीय सदस्य भी थे।अस्पताल सूत्रों ने बताया कि प्रकाश को सुबह थापाथली स्थित नॉर्विक इंटरनेशनल हॉस्पिटल लाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।यह दुखद समाचार सुनते ही माओवादी पार्टी के मुखिया प्रचंड झापा से काठमांडू रवाना हो गए। वह चुनाव प्रचार के लिए झापा गए थे। नेपाल में दो हफ्ते बाद ही संसदीय और प्रांतीय चुनाव के पहले चरण का मतदान होना है। प्रकाश की पत्नी बीना भी कंचनपुर सीट से संसदीय चुनाव लड़ रही हैं। प्रकाश के अलावा प्रचंड की तीन बेटियां हैं। जब उन्हें हार्टअटैक की परेशानी हुई तब पूर्व प्रधानमंत्री पुष्पकमल दहल, मोरंग के विराट चौक में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे। हार्ट अटैक आने के बाद प्रकाश दहल को चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। चिकित्सक काफी देर तक उन्हें बचाने का प्रयास करते रहे लेकिन सफल नहीं हो सके। बेटे के निधन की जानकारी मिलते ही पुष्पकमल तुरंत ही काठमांडू के लिए रवाना हो गए। प्रकाश दहल के निधन से नेपाल के राजनीतिक क्षेत्र में शोक छा गया। सत्ताधारी पार्टी, सीपीएन माओवादी पार्टी और अन्य दलों के नेता पुष्पकमल दहल प्रचंड से मिलने पहुंचे। सभी ने प्रकाश दहल के निधन पर दुख जताया और अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं।

More Articles...

  1. तख्तापलट के बाद पहली बार सार्वजनिक मंच पर आए जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति
  2. पाकिस्तान ने फिर उगला जहर, बोला- भारत पैदा कर रहा दो मोर्चे वाले हालात
  3. डोकलाम विवाद के बाद पहली बार भारत-चीन के बीच हुई बात, भरोसा बनाए रखने के उपायों पर की चर्चा
  4. पाकिस्तान ने दोस्त चीन को दिखाया ठेंगा, ठुकरा दी खास पेशकश
  5. नोटबंदी बेअसर, 10 में से 9 भारतीय को मोदी पर भरोसा, कामकाज से दो तिहाई संतुष्ट: सर्वे
  6. जिंबाब्बे: तख्तापलट की आशंका के बीच सेना ने टैंकों से बंद किया संसद का रास्ता, लोगों में दहशत
  7. सीरिया में गोलाबारी, रूसी हमलों में कम से कम 50 लोगों की मौत
  8. ईरान-इराक़ में भूकंप, 330 से ज़्यादा लोगों की मौत
  9. 5 माह में तीसरी बार मिले मोदी-ट्रंप, कहा- हमारी दोस्ती एशिया के लिए महत्वपूर्ण
  10. पति के अफेयर का पता लगने पर पत्नी ने फ्लाइट में किया हंगामा, पायलट ने बीच सफर में उतारा

София plus.google.com/102831918332158008841 EMSIEN-3